वाहनों के परमिट लेने की व्यवस्था- बदलने वाली है

वाहनों के परमिट लेने की व्यवस्था- बदलने वाली है
परिवहन विभाग जल्द ही वाहनों के परमिट लेने की व्यवस्था को बदलने वाला है। इसके लिए अब इस तरह से परमिट जारी किए जाएंगे।
 राज्य गठन के 17 साल बाद भी परिवहन विभाग मोटर वाहन अधिनियम-1988 को ताक पर रखकर स्टेट वाहन परमिट आरटीए (संभाग स्तर) की जगह देहरादून (एसटीए) से बांट रहा है। लेकिन अब यह व्यवस्था बदलने वाली है।

परिवहन मंत्री ने इस बात का संज्ञान लिया है। इससे आने वाले दिनों में खासकर पहाड़ के दूरस्थ क्षेत्रों के वाहन स्वामियों को बड़ी राहत मिलेगी। उन्हें क्षेत्रीय स्तर पर ही स्टेट वाहन परमिट मिल सकेंगे।

राज्य सरकार संभागीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए) के माध्यम से पर्वतीय क्षेत्रों में ही टैक्सी आदि के लिए ऑल स्टेट और ऑल इंडिया परमिट देने की व्यवस्था लागू करने की तैयारी में है। प्रदेश में वाहनों को परमिट देने की दोहरी व्यवस्था है।

इसमें संभाग स्तर पर संभागीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए) और राज्य स्तर पर राज्य परिवहन प्राधिकरण (एसटीए) की व्यवस्था है। अभी कुमाऊं के लोगों को परमिट के लिए हल्द्वानी और गढ़वाल मंडल में वाहन संचालित करने के लिए देहरादून और पौड़ी से परमिट मिलता है।